29 November 2018 Current Affairs

Current Affairs, 29 November 2018

1- सतत् नीली अर्थव्यवस्था सम्मेलन
  • हाल ही में केन्या की राजधानी नैरोबी में सतत् नीली अर्थव्यवस्था सम्मेलन (Sustainable Blue Economy Conference) का आयोजन किया गया।
  • सतत् नीली अर्थव्यवस्था सम्मेलन, नीली अर्थव्यवस्था के विषय पर आयोजित किया जाने वाला पहला सम्मलेन है।
  • इसका आयोजन केन्या ने कनाडा तथा जापान के सहयोग से किया है।
  • इस सम्मेलन की थीम थी- नीली अर्थव्यवस्था और सतत् विकास के लिये 2030 एजेंडा (The blue economy and the 2030 Agenda for Sustainable Development)।
  • सतत् नीली अर्थव्यवस्था सम्मेलन का आयोजन सतत् विकास के लिये संयुक्त राष्ट्र के 2030 एजेंडा, पेरिस में 2015 में आयोजित जलवायु परिवर्तन सम्मेलन और संयुक्त राष्ट्र महासागर सम्मेलन 2017 के ‘कॉल टू एक्शन’ के आधार पर किया गया।
  • नीली अर्थव्यवस्था का तात्पर्य ऐसी अर्थव्यवस्था से है जो प्रत्यक्ष अथवा अप्रत्यक्ष रूप से सागरों अथवा महासागरों से जुडी हो

 

2- द लांसेट काउंटडाउन 2018 रिपोर्ट
  • हाल ही में जारी की गई लांसेट काउंटडाउन 2018 रिपोर्ट में यह सुझाव दिया गया है कि भारतीय नीति निर्माताओं को वर्ष 2012-2016 की अवधि में देश में भयंकर गर्मी की घटनाओं में वृद्धि के कारण हुई श्रम के घंटों के नुकसान और स्वास्थ्य के प्रति बढ़े हुए जोखिमों को कम करने के लिये नए प्रयास शुरू करने चाहिये।
  • रिपोर्ट के अनुसार, वर्ष 2014-2017 की अवधि में भारत में भयंकर गर्मी की औसत अवधि 0.8-1.8 दिनों के वैश्विक औसत की तुलना में 3-4 दिनों तक थी और भारतीयों ने वर्ष 2012 में लगभग 40 मिलियन की तुलना में वर्ष 2016 में लगभग 60 मिलियन भयंकर गर्मी के प्रकोप की घटनाओं का सामना किया।
  • भयंकर गर्मी के कारण वर्ष 2017 में वैश्विक स्तर पर लगभग 153 बिलियन श्रमिक घंटों का नुकसान हुआ जो कि वर्ष 2000 में हुए नुकसान से 62 बिलियन घंटे अधिक है।
  • पब्लिक हेल्थ फाउंडेशन ऑफ इंडिया के साथ संयुक्त रूप से तैयार की गई यह रिपोर्ट जलवायु परिस्थितियों के संबंध में मौजूदा व्यावसायिक स्वास्थ्य मानकों, श्रम कानूनों और श्रमिक सुरक्षा के क्षेत्रीय नियमों की समीक्षा का भी आग्रह करती है।
  • भारत के मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार, वर्ष 1901 से 2007 तक औसत तापमान में 0.5 डिग्री सेल्सियस से अधिक की वृद्धि हुई थी, जिसमें काफी भौगोलिक विविधता थी और शोध समूहों द्वारा जलवायु पूर्वानुमान के अनुसार, 21वीं शताब्दी के अंत तक उत्तरी, मध्य और पश्चिमी भारत के तापमान में 2.2-5.5 डिग्री सेल्सियस की वृद्धि होगी।
  • लांसेट के अनुसार, पूरे भारत में वर्ष 2000-2017 के बीच नुकसान हुए श्रम के घंटों की संख्या भी बढ़ी है। कृषि क्षेत्र औद्योगिक और सेवा क्षेत्रों की तुलना में अधिक सुभेद्य था क्योंकि श्रमिकों के गर्मी के संपर्क में आने की संभावना अधिक थी।
  • अकेले कृषि क्षेत्र में, नुकसान हुए श्रम के घंटों की संख्या वर्ष 2000 के 40,000 मिलियन घंटों से वर्ष 2017 में लगभग 60,000 मिलियन घंटों तक बढ़ गई। कुल मिलाकर सभी क्षेत्रों में भारत को वर्ष 2000 के 43,000 मिलियन घंटों की तुलना में वर्ष 2017 में लगभग 75,000 मिलियन श्रम के घंटों का नुकसान हुआ।
  • पिछले महीने जलवायु परिवर्तन पर अंतर-सरकारी पैनल (आईपीसीसी) द्वारा जारी की गई ‘1.5 डिग्री सेल्सियस के ग्लोबल वार्मिंग पर विशेष रिपोर्ट’ के अनुसार, यदि वैश्विक तापमान वर्तमान से एक डिग्री सेल्सियस अधिक हो जाए तो भारत को 2015 की भयंकर गर्मी जिससे 2,000 लोगों की मौत हुई, जैसी स्थिति का सामना वार्षिक तौर पर करना पड़ सकता है।
  • ग्लोबल वार्मिंग से निपटने के संबंध में संयुक्त राष्ट्र संधि के तहत लगभग 190 हस्ताक्षरकर्त्ता देशों के कॉन्फ्रेंस ऑफ़ पार्टीज़ का आयोजन 2015 के पेरिस समझौते को लागू करने के लिये ‘नियम पुस्तिका’ तैयार करने हेतु काटोविस, पोलैंड में किया जा रहा है।

 

3- HySIS का प्रक्षेपण 
  • हाल ही में इसरो (ISRO) ने PSLV-C43 की मदद से कुल 31 सैटेलाइट प्रक्षेपित किये जिसमें भारत का हाइपरस्पेक्ट्रल इमेजिंग सैटेलाइट (HySIS) भी शामिल है। HySIS के अलावा इसमें अन्य 8 देशों के 30 दूसरे सैटेलाइट शामिल हैं जिसमें एक माइक्रो तथा 29 नैनो सैटेलाइट हैं।
  • स्पेस एजेंसी इसरो ने अप्रैल 2008 में हाइपरस्पेक्ट्रल इमेजिंग टेक्नोलॉजी का परीक्षण किया था।
  • अक्तूबर, 2008 में ही इसरो ने चंद्रयान-1 पर एक HySI या हाइपरस्पेक्ट्रल इमेजर को लगा दिया था और खनिजों का पता लगाने हेतु चंद्रमा की सतह को स्कैन करने में इसका इस्तेमाल किया था।
  • भारत का हाइपर स्पेक्ट्रल इमेजिंग उपग्रह (HySIS) इस मिशन का प्राथमिक सैटेलाइट है। इसरो ने इमेजिंग सैटेलाइट को पृथ्वी की निगरानी हेतु विकसित किया है।
  • हाइपरस्पेक्ट्रल इमेजिंग सैटलाइट (HySIS) का प्राथमिक उद्देश्य इलेक्ट्रोमैग्नेटिक स्पेक्ट्रम के दृश्यमान, निकट अवरक्त और शॉर्टवेव इन्फ्रारेड क्षेत्रों में पृथ्वी की सतह का अध्ययन करना है।
  • ‘Hyspex’ इमेजिंग, अंतरिक्ष से किसी दृश्य के प्रत्येक पिक्सेल हेतु स्पेक्ट्रम की पहचान करते हुए पृथ्वी पर वस्तुओं, सामग्री या प्रक्रियाओं की अलग पहचान की सुविधा प्रदान करती है।
  • यह सीमापार या अन्य गुप्त गतिविधियों का पता लगाने में सहायता प्रदान कर सकती है।

 

4- उत्सर्जन गैप रिपोर्ट, 2018
  • हाल ही में यूनाइटेड नेशन एन्वायरनमेंट प्रोग्राम (UNEP) ने उत्सर्जन रिपोर्ट (emissions Report) प्रस्तुत की है।
  • इस रिपोर्ट में यह दावा किया गया है कि ग्लोबल वार्मिंग (Global warming) से निपटने के लिये तमाम देशों द्वारा उठाए जा रहे कदम पर्याप्त नहीं है।
  • उत्सर्जन गैप रिपोर्ट में इस बात पर ज़ोर दिया गया है कि यदि 2030 तक उत्सर्जन गैप को खत्म नहीं किया गया तो वैश्विक तापमान (Global temperature) को 2 डिग्री सेंटीग्रेड पर सीमित करना दुनिया के लिये एक चुनौती बन जाएगा।
  • यूनाइटेड नेशन एन्वायरनमेंट प्रोग्राम (United Nations Environment Program) ने अपनी उत्सर्जन गैप रिपोर्ट में कहा है कि 2015 में पेरिस समझौते के दौरान 194 देशों द्वारा किया गया वादा यानी ‘राष्ट्रीय स्तर पर निर्धारित योगदान’ उत्सर्जन गैप के खात्मे के लिये पर्याप्त नहीं है।
  • यदि तापमान वर्तमान दर से बढ़ता रहा तो 2100 तक आते-आते वैश्विक तापमान 3 डिग्री सेंटीग्रेड का आँकड़ा भी पार कर जाएगा।
उत्सर्जन गैप (Emission gap)?
  • 2030 तक वैश्विक स्तर पर किये जाने वाले वास्तविक उत्सर्जन तथा ग्लोबल वार्मिंग को नियंत्रित करने हेतु वैज्ञानिक विधियों से ज्ञात प्रत्याशित उत्सर्जन स्तरों के बीच के अंतर को उत्सर्जन गैप कहा जाता है।

 


One Liner Current करेंट अफेयर्स (29 November) 

  1. गोवा राज्य में भारत का 49वां अंतर्राष्ट्रीय फिल्म समारोह समाप्त हुआ ।
  2. 27 नवंबर को ‘मेकिंग ऑफ न्यू इंडिया : ट्रांसर्फोमेशन अंडर मोदी गवर्न्‍मेंट’ किताब का अनावरण अरुण जेटली ने किया।
  3. रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने 27 नवंबर को नई दिल्ली में “मिशन रक्षा ज्ञान शक्ति” की शुरूआत की।
  4. आज सुबह 9:58 पर आंध्रप्रदेश के श्रीहरिकोटा (सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र) से इसरो ने HysIS का प्रक्षेपण किया। पूरा नाम हाईपर स्पेक्ट्रल इमेजिंग सेटेलाइट  है । इसका उद्देश्य पृथ्वी की सतह का अध्ययन करना है।
  5. NPCC कंपनी को भारत सरकार द्वारा 5 नवंबर, 2018 को “मिनीरत्न: श्रेणी-1” का सम्मानित दर्जा प्रदान मिला।
  6. भारतीय अंग दान दिवस 27 नवंबर को मनाया जाता है।
  7. अर्जेंटीना में जी-20 शिखर सम्मेलन 2018 का आयोजन किया जाएगा।
  8. केरल की विनाशकारी बाढ़ में नि:स्वार्थ सेवा एवं बहादुरी का परिचय देने वाले भारतीय नौसेना के कमांडर विजय शर्मा और कैप्टन पी. राजकुमार को ‘एशियन ऑफ द ईयर’ पुरस्कार मिला।
  9. जी-20 शिखर सम्मेलन 2019 का आयोजन जापान में किया जाएगा।
  10. हॉकी विश्व कप 2018 की मेजबानी भारत के ओडिशा राज्य ने किया।
  11. अरविंद सक्सेना UPSC के नए चेयरमैन बने। 7 अगस्त, 2020 तक पदासीन रहेंगे।
  12. IT कंपनी विप्रो के चेयरमैन अजीज प्रेमजी को फ्राँस का सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘नाइट ऑफ द लीजन ऑफ ऑनर’ मिला।
  13. ऑस्कर-विजेता निदेशक बर्नार्डो बर्टोलुची का निधन हो गया।
  14. परमाणु ऊर्जा नियामक बोर्ड (एईआरबी) के अध्यक्ष के रूप में प्रसिद्ध वैज्ञानिक एन आर गुंटूर को नियुक्त किया गया है।
  15. 28 से 30 नवंबर, 2018 के दौरान महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के सिलसिले में ‘दक्षिण एशिया क्षेत्रीय युवा शांति सम्मेलन’ का आयोजन किया गया।
  16. National Research Laboratory CSIR-Institute of Microbial Technology जर्मनी की एक अग्रणी विज्ञान एवं  प्रौद्योगिकी कंपनी मर्क के साथ चंडीगढ़ में एक उच्च कौशल विकास केंद्र की स्थापना करेगी। 
  17. एयर इंडिया की ग्राउंड हैंडलिंग सब्सिडियरी एयर इंडिया एयर ट्रांसपोर्ट सर्विसेज़ लिमिटिड की रणनीतिक बिक्री को मंज़ूरी मिली।
  18. केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने हिमाचल प्रदेश (मंडी) में की आपात प्रतिक्रिया सहायता प्रणाली (ERSS) की शुरुआत की। ERSS के तहत अखिल भारतीय एकल आपात नंबर ‘112’ की भी शुरुआत हुई। ऐसा करने वाला हिमाचल प्रदेश देश का पहला राज्य बना।
  19. A.M.नाईक राष्ट्रीय कौशल विकास निगम (NSDC)  के चेयरमैन बने।

 

Adarsh Academy - Education

‘ADARSH ACADEMY – EDUCATION’ aims to become you general thinking man on any instant situation. so our channel provides and will be providing videos on G.S. Paper which will be relevant for civil services, pdf, test series, quick revision, current affairs and all important events which has recently happened for all exams like that UPSC, UPPSC, BPSC, MPPSC, RAILWAYS, SSC, POLICE EXAMs.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *